Sun. Dec 5th, 2021

दोस्तों , क्या आपको मालूम है कि हमारी देश की तीनों सेनाओं ( जल , थल , और वायु ) का सैल्यूट करने का तरीका अलग – अलग होता हैं । दोस्तो हमारे देश की सेना हमारी आन बान और शान की रक्षा करती है , तथा हर मौसम और हर मुश्किल में देश को पूरी सुरक्षा प्रधान करती हैं ।

आपने तीनों सेनाओं के जवानों को सैल्यूट करते हुए तो जरूर देखा होगा पर क्या आपने इस बात पर कभी ध्यान दिया है , कि तीनों सेना के सैल्यूट करने का जो तरीका हैं वो अलग – अलग हैं , देखने में तीनों सेनाओं के सैल्यूट एक जैसे होते हैं पर तीनों सेनाओं का सैल्यूट करने का तरीका अलग होता हैं , और तीनों सेनाओं के अलग अलग सैल्यूट करने का मतलब भी अलग – अलग होता हैं ।

सैल्यूट का क्या मतलब होता है ? सैल्यूट क्यों किया जाता हैं ?

दोस्तो , सैल्यूट का मतलब बहुत ही साधारण होता है तथा सभी जवान अपने से बड़े अफसर को सम्मान देने के लिए सैल्यूट करते हैं । दोस्तो सैल्यूट करने का ये भी मतलब होता है कि जो जवान सैल्यूट कर रहा है उसके पास कोई भी हथियार नहीं हैं , और हर कोई उनपर विश्वास कर सकता हैं ।

तीनों सेनाओं के सैल्यूट करने के तरीके :-

भारतीय थल सेना ( इंडियन आर्मी ) :-

भारतीय थल सेना के जवान कही मौकों पर आपको सैल्यूट करते हुए दिख जाएंगे । दोस्तो भारतीय थल सेना के जवान अपने खुले पंजे से सैल्यूट करते है तथा सैल्यूट करते समय उनकी सारी उंगलियां सामने की ओर खुली रहती है इसके अलावा बीच की उंगली और अंगूठा उनके सर और आइब्रोज तक होता है ।

भारतीय जल सेना ( इंडियन नेवी ) :-

इंडियन नेवी ( भारतीय जल सेना ) का सैल्यूट करने का तरीका इंडियन आर्मी से काफी अलग होता है । दोस्तो इंडियन नेवी के जवान भी खुली हथेली से सैल्यूट करते है । लेकिन उनकी हथेली नीचे की तरफ होती हैं , इंडियननेवी द्वारा नीचे हथेली कर के सैल्यूट करने के पीछे एक बहुत ही पुरानी वजह है असल में बहुत समय पहले इंडियन नेवी के जवान नेवी के जहाजों में काम भी करते थे , जिस वजह से उनके हाथ गंदे हो जाया करते थे तो उन गंदे हाथों को छुपाने के लिए वो नीचे हथेली कर के सैल्यूट करते थे और फिर धीरे धीरे नीचे हथेली करके सैल्यूट करना ही इंडियन नेवी का सैल्यूट करने का तरीका बन गया । और आज भी इंडियन नेवी हथेली नीचे करके सैल्यूट करती है ।

भारतीय वायु सेना ( इंडियन एयरफोर्स ) :-

दोस्तो पहले इंडियन एयरफोर्स (भारतीय वायु सेना ) के जवान भी इंडियन आर्मी की तरह सैल्यूट करते थे लेकिन साल 2006 में मार्च के महीने में इंडियन एयरफोर्स के अफसरों ने अपने जवानों के सैल्यूट के लिए नए तरीके सुझाए जिसमे इंडियन एयरफोर्स के जवान हथेली और जमीन में 45° का कोण बनाते है । इस तरह इंडियन एयरफोर्स आसमान की तरफ अपने बढ़ते कदम को दर्शाती है ।

दोस्तो अब आप जान चुके है की भारत की तीनों सेनाओं का सैल्यूट करने का तरीका अलग अलग क्यों होता हैं और उनके सैल्यूट करने के तरीके का किया मतलब होता है।

ये भी पढ़े :-

• स्कूल बसों का रंग पीला ही क्यों होता है ?

आखिर क्यों आर्मी में जवानों को शराब पीने की अनुमति दी जाती हैं ?

आखिर क्यों जवानों के बाल काट दिए जाते है या छोटे रखे जाते है

By Admin

One thought on “भारत की तीनों सेनाओं का सैल्यूट अलग अलग क्यो होता हैं ? 🤔”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *